Gangotri Dham का इतिहास और मंदिर से जुड़ी पौराणिक कथाएं

gangotri dham in hindi

gangotri dham in hindi गंगोत्री धाम भारतीय राज्य उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित है | जो हिंदू धर्म के चार धाम में से एक है। यह समुद्र तल से लगभग 3,100 मीटर (10,200 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है | और यह गंगा नदी का उदगम स्थल भी है | जिसे भारत की सबसे पवित्र नदियों में से एक माना जाता है।

गंगोत्री धाम का इतिहास और मंदिर से जुड़ी पौराणिक कथाएं | Gangotri Dham in Hindi

गंगोत्री मंदिर माँ गंगा देवी को समर्पित है। गंगोत्री मंदिर सफेद ग्रेनाइट पत्थरो से बना हुआ है | यह मंदिर भागीरथी नदी के तट पर स्थित है। सर्दियों के महीनों में भारी बर्फबारी के कारण यह मंदिर बंद रहता है। gangotri story in hindi

गंगोत्री धाम चारो और से सुंदर पहाड़ों से घिरा हुआ है | यहाँ का सबसे लोकप्रिय ट्रेकिंग मार्गों गोमुख ट्रेक हैं | जो गंगा नदी का उदगम स्थल तक जाता है | और तपोवन घास के मैदान और शिवलिंग शिखर तक ट्रेकिंग के लिए आधार शिविर भी है। gangotri dham in hindi story

 गंगोत्री धाम का इतिहास | History of Gangotri Dham

गंगोत्री धाम का इतिहास प्राचीन काल से चला आ रहा है | इसे मंदिर को हिंदू धर्म में सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। गंगोत्री मंदिर की उत्पत्ति 8वीं शताब्दी में हुई थी | इस मंदिर की स्थपना आदि शंकराचार्य ने की थी। gangotri story in hindi

See also  Climate Change Has Forced Indigenous Peoples in This Alaskan City

मंदिर को समय के साथ, मंदिर को कई बार फिर से बनाया गया। 18वीं शताब्दी में, मंदिर का पुनर्निर्माण नेपाली सेनापति अमर सिंह थापा द्वारा किया गया था | जो देवी गंगा के बहुत बारे भक्त थे। history of gangotri dham hindi

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, माँ देवी गंगा मानव जाति के पापों को धोने के लिए एक नदी के रूप में स्वर्ग से धरती पर उतरीं हुई थी | एक कथा और प्रचलित है | कि राजा सगर के वंशज राजा भागीरथ ने ऋषि कपिला द्वारा शापित अपने पूर्वजों की आत्माओं को शुद्ध करने के लिए गंगा नदी को पृथ्वी पर लाने के लिए कठोर तपस्या की थी। gangotri dham opening date 2023

आज, गंगा नदी में पूरे भारत वर्ष से लोग इस पवित्र जल में डुबकी लगाने और देवी गंगा का आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं। यह मंदिर अपनी प्राकृतिक सुंदरता और हिमालय की चोटियों के आश्चर्यजनक दृश्यों के लिए भी एक काफी लोकप्रिय पर्यटन स्थल बना गया है। gangotri dham kahan per hai

gangotri dham in hindi

गंगोत्री धाम कहाँ ठहरें | Where to stay in gangotri dham

गंगोत्री मंदिर के पसस कई होटल और GMVN गेस्ट हाउस मिल जाते है | इनमे बाथरूम, गर्म पानी और रूम सर्विस जैसी कई सुविधाओं उपलब्ध होती है। जिसमे होटल का किरया 1000 से 3000 रुपए के बिच होता है | और GMVN गेस्ट हाउस किरया 300 से 500 रुपए होता है | gangotri temple timings

गंगोत्री प्रकृति शिविर: यह गंगोत्री शहर से लगभग 10 किमी दूर स्थित एक शिविर स्थल है। कैंपसाइट बिस्तर, कंबल और तकिए जैसी बुनियादी सुविधाओं के साथ आरामदायक टेंट प्रदान करता है। कैम्पसाइट में एक भोजन क्षेत्र भी है जो शाकाहारी भोजन परोसता है। hotel booking in gangotri dham

See also  The Limits of Peaceful Protest in a World That Is Burning

GMVN भोजबासा पर्यटक बंगला: यह गंगोत्री शहर से लगभग 14 किमी दूर भोजबासा में स्थित सरकार द्वारा संचालित पर्यटक बंगला है। बंगला बुनियादी आवास प्रदान करता है और ट्रेकर्स के बीच एक लोकप्रिय विकल्प है जो गौमुख तक ट्रेक करने की योजना बना रहे हैं। gangotri temple kahan per hai

गंगोत्री धाम कैसे पहुंचे | How to reach Gangotri Dham

सड़क मार्ग: गंगोत्री धाम उत्तराखंड के प्रमुख शहरों जैसे देहरादून, ऋषिकेश और हरिद्वार से सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। इन शहरों से गंगोत्री के लिए नियमित बसें और टैक्सी मिल जाती हैं। गंगोत्री धाम का निकटतम शहर उत्तरकाशी है | जो गंगोत्री से लगभग 100 किमी दूर है। gangotri dham taxi fare

ट्रेकिंग मार्ग: गंगोत्री मंदिर के पास से ही गौमुख के लिए मार्ग जाता है। जिसक ट्रेक गंगोत्री से शुरू होता है | और भोजबासा और तपोवन से होते हुए गौमुख तक पहुंचता है | जो गंगा नदी का उद्गम स्थल है। और ट्रेक लगभग 18 किमी लंबा है | इसको पूरा करने में लगभग दो दिन लगते हैं। tourist places near gangotri dham

वायु मार्ग: गंगोत्री का निकटतम हवाई अड्डा देहरादून में जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है | जो लगभग 250 किमी दूर है। हवाई अड्डे से आप शेयर टैक्सी और बस मिल जाती हैं | और किरया 300 रुपऐ से 450 रुपऐ तक होता हैं। gangotri dham in hindi

ट्रेन मार्ग: गंगोत्री का निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश है | जो गंगोत्री से लगभग 234 किमी दूर पर स्थित है। रेलवे स्टेशन के बाहर से कई टैक्सी और बस मिल जाती है | जो सीधी गंगोत्री तक ले जाती है | टैक्सी का पर पर्सन किरया 400 रुपए होता है | उसी बस का किरया 300 रुपए तक होगा | gangotri to kedarnath dham distance

gaumukh-trek in hindii

गंगोत्री धाम पूछे जाने वाले प्रश्न | Faq’s Gangotri Dham

गंगोत्री धाम क्या है?

See also  Black People Have Been Saying We Can't Breathe for Decades

गंगोत्री धाम भारत के उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित एक पवित्र हिंदू तीर्थ स्थल है। यह गंगा नदी का स्रोत है और इसे हिंदू धर्म के सबसे पवित्र स्थानों में से एक माना जाता है।

गंगोत्री धाम जाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

गंगोत्री धाम जाने का सबसे अच्छा समय मई से जून और सितंबर से नवंबर तक है। इस दौरान मौसम सुहावना होता है और मंदिर दर्शनार्थियों के लिए खुला रहता है।

गंगोत्री और गौमुख की दूरी कितनी है?

गंगोत्री और गौमुख के बीच की दूरी लगभग 18 किमी है, और ट्रेक को पूरा करने में लगभग दो दिन लगते हैं।

क्या गंगोत्री धाम में कोई आवास उपलब्ध है?

हां, गंगोत्री धाम के पास आवास के लिए गेस्टहाउस और लॉज से लेकर सरकार द्वारा संचालित पर्यटक बंगले तक कई विकल्प हैं।

गंगोत्री मंदिर आरती का समय | gangotri temple aarti timing

गंगोत्री मंदिर में आरती दिन में दो बार – सुबह और शाम को होती है। सुबह की आरती लगभग 6:30 बजे शुरू होती है | और शाम की आरती लगभग 6:00 बजे शुरू होती है। आरती के बाद पर्यटक आसपास के पहाड़ो का अंदर उठा सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like