Kedarnath Dham Opening Date | भक्तों के लिए 25 अप्रैल से केदारनाथ मंदिर कपाट खुलें गऐ

kedarnath dham opening date

kedarnath dham opening date केदारनाथ धाम भारत के उत्तराखंड राज्य में हिमालय में स्थित हिंदू धर्म के चार पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। जो मंदिर भगवान शिव को समर्पित है | और इसे हिंदुओं के सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों में से एक माना जाता है। आम तौर पर यात्रा अप्रैल से मई के बीच में शुरू होती है | और नवंबर तक चलती है |

मौसम की स्थिति और अन्य कारकों के आधार पर तिथियां बदल सकती हैं। महाशिवरात्रि के अवसर पर केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की गई | केदारनाथ मंदिर 25 अप्रैल 2023 को सुबह 6.00 बजे तीर्थयात्रियों के लिए खुलेगा। kedarnath temple opening date 2023

केदारनाथ मंदिर के कपाट 25 अप्रैल से भक्तों के लिए खुलेंगे | Kedarnath Dham Opening Date

गौरीकुंड से केदारनाथ तक लगभग 16 किलोमीटर का ट्रेक शामिल है, जिसे पैदल, या हेलीकाप्टर से किया जा सकता है। रास्ते में, कई पड़ाव हैं जहाँ तीर्थयात्री आराम कर सकते हैं | खा सकते हैं और खुद को तारो ताज़ा कर सकते हैं। ट्रेक चुनौतीपूर्ण हो सकता है | खासकर उन लोगों के लिए जो लंबी दूरी या अधिक ऊंचाई पर चलने के आदि ना हो।

यह सुनिश्चित करे की आपका शारीर ट्रेक के लिए फिट हैं। सभी सुरक्षा दिशानिर्देशों और सावधानियों का पालन करना भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि ऊबड़-खाबड़ इलाकों और अप्रत्याशित मौसम की स्थिति के कारण यात्रा खतरनाक हो सकती है। kedarnath kapat kab khulega 2023

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है | कि केदारनाथ धाम यात्रा करने से पहले परमिट प्राप्त कर ले | जिसे आप ऑनलाइन या व्यक्तिगत रूप से सोनप्रयाग यात्रा पास काउंटर पर प्राप्त कर सकते हैं। पहले से ही होटल या धर्मशालये में अपना रूम बुक कर के चले |

See also  Top 12 Best Places to Visit Rishikesh 

Kedarnath Temple Story in Hindi | केदारनाथ मंदिर का इतिहास

केदारनाथ मंदिर का इतिहास प्राचीन काल का है | kedarnath temple story in hindi कुछ किंवदंतियों के अनुसार यह मूल रूप से भारतीय महाकाव्य महाभारत के पांडवों से जुड़ा हुआ है। एक अन्य कथा के अनुसार, मंदिर की स्थापना 8वीं शताब्दी ईस्वी में एक प्रसिद्ध हिंदू संत आदि शंकराचार्य ने की थी। 17वीं शताब्दी में गढ़वाल के राजा सहित कई शासकों द्वारा मंदिर का विस्तार और जीर्णोद्धार दोबारा किया गया। kedarnath dham history 

kedanth temple aarti timing

मंदिर का निर्माण पारंपरिक उत्तर भारतीय शैली में किया गया है | जिसमें एक गर्भगृह है | इसी गर्भगृह में कूबड़ के रूप में भगवन शिव समर्पित है। मंदिर भारत की धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। पूरे भारतवर्ष और दुनिया भर से तीर्थयात्री भगवान शिव आशीर्वाद लेने के लिए यात्रा करते हैं। kedarnath dham opening date

भक्त विभिन्न प्रकार अनुष्ठान करते हैं | और केदारनाथ मंदिर में भगवान शिव की पूजा करते हैं। भगवान के दर्शन के लिए मंदिर सुबह 6:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक शाम 5:00 बजे से रात 9:00 बजे तक मंदिर के कपाट खुले रहते है। kedarnath mandir ke kapat kab khulenge

यह विस्मयकारी मंदिर समुद्र तल से 3,583 meters (11,755 feet) above sea level मीटर की ऊंचाई पर स्थित है | और सबसे अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करता है। सुंदर परिवेश इस मंदिर की भव्यता और दिव्यता को उजागर करता है। सर्दियों के महीनों के दौरान, पूरा क्षेत्र बर्फ में ढक जाता है | तभी भगवान केदार को उखीमठ के ओंकारेश्वर मंदिर में ले जाया जाता है। panch kedar in hindi

यह वह क्षण भी होता है | जब सैकड़ों तीर्थयात्री और भक्त भगवान शिव के गीतों को गाते और जपते हुए आगे चलते जाते है। हिंदू आस्था की अवधारणा है | कि केदारनाथ धाम यात्रा में जाने या भाग लेने से व्यक्ति जन्म और पुनर्जन्म के चक्र से मुक्त हो जाएगा।

See also  History of Yamunotri Temple Hindi | यमुनोत्री मंदिर में आरती और घूमने का समय

How to reach Kedarnath Dham | केदारनाथ धाम कैसे पहुंचे

दिल्ली केदारनाथ से लगभग 480 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। delhi to kedarnath dham distance दिल्ली से केदारनाथ पहुँचने के कुछ रास्ते इस प्रकार हैं:

वायु द्वारा: केदारनाथ का निकटतम हवाई अड्डा देहरादून में जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है | जो केदारनाथ से लगभग 250 किलोमीटर दूर है। हवाई अड्डे के बाहर से कई प्राइवेट टैक्सी और शेयर टैक्सी का किराय 400 रुपए पर पर्सन और सरकारी बस का किराय 280 से 300 रुपए होगा है | जो केदारनाथ यात्रा के बेस कैंप गौरीकुंड तक पहुँचा देती है | kedarnath dham opening date

ट्रेन द्वारा: केदारनाथ का निकटतम रेलवे स्टेशन हरिद्वार है | जो दिल्ली और भारत के अन्य प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। हरिद्वार से, आप गौरीकुंड पहुँचने के लिए एक टैक्सी या एक साझा टैक्सी ले सकते हैं। वहां से आप ट्रेकिंग, हेलीकाप्टर या पोनी द्वारा केदारनाथ ट्रेकिंग कर सकते हैं।

सड़क मार्ग: आप दिल्ली से सड़क मार्ग से भी केदारनाथ पहुंच सकते हैं। इस मार्ग पर कई बसें और टैक्सियाँ चलती हैं, और दिल्ली से गौरीकुंड पहुँचने में लगभग 12-14 घंटे लगते हैं। गौरीकुंड से आप 16 किलोमीटर ट्रैक करके केदारनाथ जा सकते हैं।

Where to Stay Kedarnath Dham | केदारनाथ धाम कहाँ ठहरें

जीएमवीएन: जीएमवीएन गेस्ट हाउस डोमेटी की सुविधा देती है | जो तीर्थयात्रियों को आरामदायक और किफायती कमरे प्रदान करती है। जिसका किराया पर पर्सन 300 से 500 रुपए तक होता है | जीएमवीएन कई गेस्ट हाउस मंदिर के पास स्थित है | kedarnath temple hotel booking

केदारनाथ मंदिर कमेटी कैंप एक अन्य विकल्प भी है | जो मंदिर के पास में स्थित है। जिसमे गर्म पानी और रूम सर्विस जैसी बुनियादी सुविधाएं होती है। जिसका किराया पर पर्सन 600 से 1000 रुपए के बीच में होता है | kedarnath temple hotel price

निजी होटल और गेस्ट हाउस: केदारनाथ में कई निजी होटल और गेस्ट हाउस हैं | जो कमरों को किराये पर देते हैं। जिनका किराया एक दिन का 3000 से 5000 रुपए तक होता है | जिसमे गर्म पानी, खाने और वाई-फाई जैसी सुविधाएं होती हैं। kedarnath dham hotel kiraya

See also  Badrinath Dham Opening Date 2023 | बद्रीनाथ धाम

kedarnath hotel booking services

How to book helicopter service for Kedarnath Dham | केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर सेवा कैसे बुक करें

केदानाथ धाम के लिए हेलीकाप्टर बुक करने के उत्तराखंड की इस https://heliservices.uk.gov.in/ वेबसाइट पर जाएं।

1. फाटा से केदारनाथ वन वे टिकट 2360 रुपये राउंड ट्रिप 4720 रुपये है। kedarnath dham opening date
Phata to Kedarnath one way ticket is Rs.2360 round trip Rs.4720.

2. सिरसी से केदारनाथ वन वे टिकट 2340 रुपये राउंड ट्रिप 4680 रुपये है।
Sirsi to Kedarnath one way ticket is Rs.2340 round trip Rs.4680.

3. गुप्तकाशी से केदारनाथ वन वे टिकट 3875 रुपये राउंड ट्रिप 7750 रुपये है।
Guptkashi to Kedarnath one-way ticket is Rs.3875 round trip Rs.7750.

Darshan Timings at Kedarnath Dham | केदारनाथ धाम में दर्शन का समय

केदारनाथ मंदिर के कपाट भक्तों के लिए सुबह: 6:00 बजे खुल जाते हैं। दर्शन लगभग 2 घंटे तक चलता है।
दोपहर के दर्शन के लिए मंदिर के कपाट दोपहर 5:00 बजे से शाम के 9 बजे तक खुले रहते है | best time for kedarnath yatra

Kedarnath Dham Faq’s

1. केदारनाथ जाने का सबसे अच्छा समय क्या है?

केदारनाथ जाने का सबसे अच्छा समय मई से जून और सितंबर से नवंबर तक है। इन महीनों के दौरान मौसम सुहावना होता है और ट्रेकिंग के रास्ते खुले होते हैं।

2. केदारनाथ और गौरीकुंड के बीच की दूरी कितनी है?

केदारनाथ और गौरीकुंड के बीच की दूरी करीब 16 किलोमीटर है। गौरीकुंड से केदारनाथ तक का ट्रेक तीर्थयात्रियों द्वारा लिया जाने वाला एक लोकप्रिय मार्ग है | जबकि हेलीकॉप्टर और पोनी की सवारी भी उपलब्ध है।

3. केदारनाथ की ऊंचाई कितनी है?

केदारनाथ धाम की समुद्र तल से ऊंचाई लगभग 3,583 मीटर (11,755 फीट) की है।

4. केदारनाथ यात्रा के दौरान ले जाने वाली महत्वपूर्ण चीजें क्या हैं?

यात्रा के दौरान ले जाने वाली कुछ महत्वपूर्ण चीजों में गर्म कपड़े, आरामदायक जूते, एक रेनकोट, पानी की बोतल, कुछ दवाईयाँ, खाने के लिए नामकिन और बिस्कुट लेकर चले |

5. क्या केदारनाथ में होटल उपलब्ध है?

हां, केदारनाथ में होटल के कई विकल्प उपलब्ध हैं | जिनमें सरकार द्वारा संचालित जीएमवीएन, निजी होटल और गेस्ट हाउस शामिल हैं।

6. क्या वरिष्ठ नागरिक केदारनाथ यात्रा कर सकते हैं?

केदारनाथ यात्रा में एक कठिन ट्रेक शामिल है | और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए यात्रा करना उचित नहीं हो सकता है। हालांकि, हेलीकाप्टर और पोनी की सवारी उपलब्ध हैं | kedarnath dham opening date

1 comment
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like